Hindi

यही कारण है कि पूर्वनिर्धारित और स्वाभाविक दोनों सत्र आवश्यक हैं

वह स्वाभाविक सेक्स चाहता है, वह उसे निर्धारित करना और अच्छी तरह से तैयार करना चाहती है। क्या वे एक समझौते तक पहुंच सकते हैं?
scheduled-making-out

“तुम अब नहीं कहते कि मैं सुंदर हूँ। तुम इन दिनों रोमांटिक नहीं हो। यह अच्छा नहीं लगता। तुम्हें बस सेक्स चाहिए और मेरी भावनाएं कोई मायने नहीं रखती। तुम आत्म केंद्रित हो,’’ मेरी पत्नी ने जाते हुए कहा और फिर मेरे प्रति एक शयनकक्ष का युद्ध घोषित कर दिया।’ इस तरह राजेश ने पत्नी साजी के साथ वैवाहिक विवाद के बारे में बातचीत शुरू की।

यह घटना वैवाहिक विवाद पर एक अलग रूख थी। जोड़े के विवाहित जीवन में दृश्य रूप से कुछ भी गलत नहीं था। दोनों आईटी सेक्टर में काम करते हैं और दोनों घर लौटते हैं और घरेलू काम साथ में करते हैं। उनके विवाह में जो चीज़ सही नहीं है वह है उनकी सेक्स टाइमिंग, जिसकी वजह से एक अन्यथा अद्भुत जीवन उनके हाथ से निकल रहा है।

पूर्वनिर्धारित बनाम स्वाभाविक सेक्स

वह चाहती है कि उनका सेक्स पूर्वनिर्धारित हो, लेकिन पति को स्वाभाविक पसंद है, और वे एक मध्य मार्ग नहीं ढूंढ पा रहे हैं। साजी को रात और माहौल के लिए अच्छे से तैयार होना पसंद है, जबकि उसे साजी के आटे से सने हाथ कामुक लगते हैं और वह उसे बिस्तर पर खींच लेता है। साजी ने आरोप लगाया कि वह हमेशा सेक्स के बारे में ही सोचता है और डिनर खत्म होने तक का इंतज़ार नहीं करता। पति के अनुसार, खाना पकाने, सफाई करने, नहाने और फिर बिस्तर पर पहुंचने में और 2-3 घंटे लग जाएंगे, उसके पास उतना धैर्य नहीं है, वह कहता है। वह हैरान था कि वह बस आवेग में जुड़ क्यों नहीं जाती।

Please Register for further access. Takes just 20 seconds :)!

Facebook Comments

1 Comment

  1. sach me pahle planing kiya hua sex natural nhi hota. vo to asa hoga jese hmne sex arrang kiya.per koi feelings kase arreng kr skta h sex bs vsa hi h.bilkul jangli vo sincear nhi ho skta 😊

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No