ये 5 राशियां मेनिपुलेट करने में माहिर है

worried man

इनमें से सबसे अधिक मेनिपुलेटिव कौन है?

अगर आप इस ग्रह में बहुत समय से रह रहे हैं फिर भी किसी ने आपके साथ षड़यंत्र नहीं किया, तो स्वयं को किस्मत वाला मानिये। कम ही लोग होते हैं जिनके साथ किसी ने खेला नहीं होता है या फिर जो कभी षड़यंत्र का शिकार नहीं हुए हैं।

मज़े की बात है, कि हम सभी जान बूझ कर या अनजाने में सामाजिक स्थितियों में लोगों के साथ कुछ खेल ज़रूर खेलते हैं क्योंकि यह अस्तित्व में बने रहने का एक कौशल है जो हमने अपनी खामियों को ढकने और हमारे फायदे के लिए चीज़ों और परिस्थितियों को छुपाने के लिए समय के साथ विकसित किया है। इसका यह अर्थ नहीं है कि हम सभी तर्कहीन झूठे लोगों का एक समूह है। इसका बस इतना ही मतलब है कि हम सभी एक ही तरह से दोषपूर्ण हैं, लेकिन लोगों और परिस्थितियों में हेरफेर करने की हमारी इच्छा एक दूसरे से भिन्न होती है। हममें से कुछ के लिए यह एक सूक्ष्म रणनीति है जिसका उपयोग हम केवल तभी करते हैं जब हमें वास्तव में आवश्यकता होती है। जबकि दूसरों के लिए यह स्वाभाविक और अधिक स्पष्ट रूप में होता है।

लेकिन जब सामाजिक परिस्थितियों में हेरफेर करने वाले लोगों से निपटने की बात आती है, तो हम कैसे जाने कि दूसरों की तुलना में किन लोगों द्वारा शातिर खेल खेले जाने की संभावना ज़्यादा है? देखिए, अगर आप राशि चिन्हों में विश्वास रखते हैं, ये 5 तरह के लोग हैं जो मास्टर मैनिपुलेटर हैं। इसका यह मतलब नहीं है कि इन राशि चिन्हों वाले आपके पहचान के लोगों पर आपको भरोसा नहीं करना चाहिए, लेकिन जब आप भरोसा करते हैं तब आपको अपनी आंखे और मन के इशारों को चेतावनी के मोड पर रखना चाहिए।

1. वृश्चिक

वृश्चिक राशि वाले जातकों में उत्कृष्ट नेतृत्व की गुणवत्ता, प्रेरक व्यक्तित्व होता है और उन्हें विवरण पर बारीकी से ध्यान देने की आदत होती है। लेकिन वे गुप्त भी होते हैं, उनमें आप पर भरोसा ना करने का कारण खोजने की प्रवत्ति होती है और बहुत आसानी से उन्हें ईर्ष्या हो जाती है। उनके मजबूत व्यक्तित्व के गुणों का यह संयोजन उन्हें एक श्रेष्ठ मेनिपुलेटर बनाता है। अगर उन्हें आपको दोष देने का कोई कारण मिल जाए, तो वे इसे बहुत चातुर्य और विश्वास के साथ करते हैं और अंत में आप यह सोचते रह जाएंगे कि आपने गलती क्या की।

man
वृश्चिक

2. कर्क

सकारात्मक बात यह है, कि कर्क राशि के जातक बहुत गहराई से अंतर्ज्ञानी होते हैं, लेकिन जब उनका अंतर्ज्ञान गलत दिशा में चला जाता है तो यह उनकी कल्पना मात्र बन जाता है। जब उनके मन में आपके विरूद्ध नकारात्मक या भयसूचक अतंर्ज्ञान होता है, तो कर्क राशि वाले अपने मेनिपुलेटिव पक्ष को स्वयं या उनके प्रियजनों की सुरक्षा के एक तरीके में बदल देते हैं।

3. मिथुन

मिथुन राशि के जातक पार्टियों की जान होते हैं और बेहद विचारशील होने के लिए जाने जाते हैं। लेकिन ये लोग निर्णय लेने में बेहद कमज़ोर भी होते हैं। ये तीन गुण एक घातक संयोजन बनाते हैं। एक सामाजिक व्यक्ति के रूप में अपनी प्रतिष्ठा बनाए रखने के लिए ये दिखाते हुए कि वे अपने फैसले के बारे में आश्वस्त हैं, वे अपनी निर्णय लेने की अक्षमता को छुपाते हैं। यह भ्रम कभी ना कभी टूट ही जाता है क्योंकि वे भी विचारशील लोग हैं और जब वे अपने फैसले पर विचार करते हैं तो वे उसमें दोष पाते हैं। वे अपने स्वयं के पश्च्याताप की प्रतिक्रिया में दूसरों पर आरोप मढ़ने के लिए अपने मेनिपुलेटिव पक्ष को जागृत करते हैं।

मिथुन

4. मीन

मीन राशि वाले जातक आमतौर पर बहुत निस्वार्थ लोग होते हैं। यह आपको सोच में डाल देता है कि वे मैनिपुलेटिव कैसे हो सकते हैं, है ना? देखिए, यह इसलिए है कि भले ही वे अधिकांश समय निस्वार्थ भाव से लोगों की मदद करना चाहते हैं, लेकिन वे भी इंसान ही हैं, और इस दुनिया में कोई भी इंसान 100 प्रतिशत निस्वार्थ नहीं हो सकता अगर इससे उसे कुछ प्राप्त नहीं हो रहा हो। इसलिए कभी-कभी वे अपने फायदे के लिए हेरफेर करने के लिए ‘अच्छे व्यक्ति’ का पैंतरा खेलते हैं।

5. सिंह

सिंह राशि वाला जातक जोश भरा है और उससे संभधित सभी स्थितियों का प्रभार लेना पसंद करता है। ज़ाहिर है, कोई भी मेनिपुलेटिव हुए बिना सभी सामाजिक स्थितियों पर नियंत्रण नहीं रख सकता, है ना? लेकिन सिंह के बारे में अच्छी बात यह है कि जब अपने किए को स्वीकार करना हो तब वे सामने भी आ जाते हैं। उदाहरण के लिए, वे आपको मुंह पर कहेंगे कि वे भी वही चाहते हैं जो आप चाहते हैं और वे आपको अवसर देने की बजाए स्वयं ये चाहते हैं। बेहद बुद्धिमान होने के नाते सिंह राशि के जातक आपको मेनिपुलेट करते हुए अपने फायदे के लिए इमानदारी के पर्दे को आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं और क्योंकि वे अपनी इच्छा के बारे में स्पष्ट हैं तो आप जान भी नहीं सकते कि कब और कैसे आपके साथ खेला गया।

शेष राशि चिन्हों की तरह इन पांच राशियों की अपनी खामियां हैं। इससे वे बुरे नहीं बन जाते, लेकिन उनकी बातों पर यकीन करने से पहले आपको निश्चित रूप से सोच विचार करना चाहिए।

Tags:

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.