Sreelata Menon

A Masters in History, Sreelata Menon worked at Onlooker and World Trade magazines before teaching History to undergraduates and doing a stint in an advertising agency. When computers hit the scene, the Internet introduced her to a whole new way of writing and working. Then reinventing herself as a Web content writer, working from home, she not only began writing weekly blogs on freelance writing but also commenting on current happenings for online and print publications everywhere. Author of Freelance Writing for the Newbie Writer, her books also include Guru Nanak and Indira Gandhi for Penguin-Puffin.

Alcohol bottle

मैंने अपने शराबी पति को छोड़ दिया और अपनी गरिमा वापस प्राप्त कर ली

(श्रीलता मेनन एक सहेली की कहानी साझा रही हैं जिसने अपने पति से बहुत प्यार करने से लेकर उसे छोड़ने तक का सफर तय किया) अल्कोहोलिज़्म की शाब्दिक परिभाषा है ‘शराब के अत्यधिक और आमतौर पर बाध्यकारी सेवन के कारण हुआ एक दीर्घकालिक विकार जो मनोवैज्ञानिक या शारीरिक निर्भरता या व्यसन का कारण बनता है …

मैंने अपने शराबी पति को छोड़ दिया और अपनी गरिमा वापस प्राप्त कर ली Read More »

“माँ, प्लीज हमें छोड़ कर मत जाओ!”

मेरे प्यारे अनीता और अनिल,  मैं ये कदम इसलिए नहीं उठा रही क्योंकि मैं तुम दोनों को प्यार नहीं करती या तुम दोनों के साथ नहीं रहना चाहती मगर ज़िन्दगी में कभी कभी ऐसे हालात हो जाते हैं की आपको सबके हित के लिए अपनी सबसे प्यारी चीज़े की कुर्बानी देनी पड़ती है. हमारे मामले …

“माँ, प्लीज हमें छोड़ कर मत जाओ!” Read More »

kerela

लिव-इन संबंध…केरल के संबंधम विवाहों का एक विस्तार?

वह साधारण सा मुंडु सेट पहने हुए थी और सफेद चमेली के फूल उसकी लंबी चोटी को सुशोभित कर रहे थे – जो उसके द्वारा पहना गया एकमात्र आभूषण था, एक मोटी सोने की चैन के अलावा। और मेरी युवा आँखों को वह प्यारी लग रही थी। जैसी सुंदर दुल्हन वह थी। दूल्हे के लिए, …

लिव-इन संबंध…केरल के संबंधम विवाहों का एक विस्तार? Read More »

Sad girl

Mamma don’t go

She said it was better for everyone if she left, but what kind of love makes that decision possible?

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.