Shabri Prasad Singh

"Shabri is a feminist and a mental health activist, she is the author of the book Borderline, a book chronicling her own battle with the mental illness Borderline Personality Disorder. She is the recipient of the award Exceptional Woman of Excellence from the Women Economic Forum and has also been awarded the 100 Women 100 Faces of India by the Confederation of Women Entrepreneurs. Shabri brings a fresh outlook to Gurgaon Lit Fest as Festival Director.”

older-woman-younger-man

पिता की मौत के बाद जब माँ को फिर जीवनसाथी मिला

पिता की मृत्यु हुए कई वर्ष बीत गए थे और इन कई वर्षों से माँ बिलकुल अकेली और तनहा थी. माँ एक दिन अपने दांत के डॉक्टर के पास गयी थी. परेशां सी वो प्रतीक्षा रूम में बैठी अपने नंबर का इंतज़ार कर रही थी. उसी हॉल में वो भी बैठे थे. वो खुद भी …

पिता की मौत के बाद जब माँ को फिर जीवनसाथी मिला Read More »

उस धोखेबाज ने मुझे इस धमकी से ब्लैकमेल किया कि वह मेरी तस्वीरें सबसे ज़्यादा बोली लगाने वाले को बेच देगा

बचपन में मुझे प्यार हो गया 31 अक्टूबर 1993 को, एक युवा और करिश्माई जेनुइन आत्मा की मृत्यु हो गई। तब से हेलोवीन मेरे लिए असहनीय हो गया। मैं 9 वर्ष की थी और मेरी आत्मा का एक हिस्सा मर गया जब प्रतिभाशाली अभिनेता रिवर फीनिक्स की मृत्यु हो गई। सालों बाद मैंने रातों में …

उस धोखेबाज ने मुझे इस धमकी से ब्लैकमेल किया कि वह मेरी तस्वीरें सबसे ज़्यादा बोली लगाने वाले को बेच देगा Read More »

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.