Christina

Christina is still groping for her identity and purpose in life. Till she finds it she wants to continue writing.

Indian-girls-gang

इस तरह उसकी सहेलियों के साथ बिताईं छुट्टियां उसके पति के साथ बिताईं छुट्टियों जैसी ही थी

यह समुद्र के किनारे एक अच्छे रिसॉर्ट में जाने का एक अचानक बना कार्यक्रम था। हम 6 स्त्रियों का एक समूह था। मैं इस क्लोज़्ड समूह जो कि बचपन के दोस्तों का समूह था, की अंतिम शामिल सदस्य थी। लेकिन क्योंकि मैं इस समूह का भाग बनना चाहती थी मैंने उनकी खातिरदारी की, उन्हें शराब …

इस तरह उसकी सहेलियों के साथ बिताईं छुट्टियां उसके पति के साथ बिताईं छुट्टियों जैसी ही थी Read More »

Spread the love
shy-woman

मेरे पति मुझसे से काम करने को कहते हैं। दुर्भाग्य से, इनमें से एक भी कामुक नहीं है!

जब भी मैं अपनी आँखों में प्यार लिए अपने पति के पास बैठती हूँ, और उनका हाथ पकड़ने लगती हूँ जैसा कि विरासत फिल्म में अनिल कपूर ने तब्बू के साथ किया था (हमारा रिश्ता थोड़ा उल्टा है), मेरे पति कहते हैं ‘‘बेबी, ज़रा मेरा चश्मा ढूँढ दो, शायद मैंने उसे गुम कर दिया है!’’ …

मेरे पति मुझसे से काम करने को कहते हैं। दुर्भाग्य से, इनमें से एक भी कामुक नहीं है! Read More »

Spread the love
middle-age-woman-flirting

क्यों मुझे लगता है कि मौखिक छेड़खानी शारीरिक छेड़छाड़ से कमतर है

कमरा ककर्श हंसी, संगीत और शराब की गंध से भर गया था। वह पार्टी शहर की स्टाइल दीवा के 50वें जन्मदिन का स्वागत कर रही थी, हालांकि किसी ने कठोर टिप्पणी की कि वह कम से कम 55 वर्ष की है! महिलाएं कोर्सेट्स के साथ लंबे गाउन पहनकर एक साथ बैठी थीं, लेकिन मोटापा एक …

क्यों मुझे लगता है कि मौखिक छेड़खानी शारीरिक छेड़छाड़ से कमतर है Read More »

Spread the love
husband-jumping-with-joy-coz-wife-leaving

जब मैं माँ के घर जाती हूँ, तो मेरे घर का हाल कुछ ये होता है…

मैं अपने पति से कहती हूँ कि मैं कुछ दिनों के लिए अपनी माँ के घर जा रही हूँ, और मेरी कहानी इस तरह सामने आती है। पहला दिन मेरे पति अपने चेहरे से मुस्कुराहट मिटा नहीं पाते हालांकि वह कहते हैं “बेबी, मुझे तुम्हारी याद आ रही है।” हमारे घर में उनकी पोकर पार्टियां …

जब मैं माँ के घर जाती हूँ, तो मेरे घर का हाल कुछ ये होता है… Read More »

Spread the love

दिन शाहरूख खान के साथ शुरू हुआ….अब यह खत्म कैसे होगा?

यह शाहरूख का जन्मदिन था और मैं उसका सपना देख रही थी। मैंने सोचा वह दरवाज़े की घंटी बजा रहा था और लाल गुलाब के एक बहुत बड़े बुके के साथ घर में आना चाहता था। मैं चमक कर जाग गई। दुर्भाग्य से, यह अलार्म की घंटी थी। हे भगवान, मैं बहुत देर से जागी …

दिन शाहरूख खान के साथ शुरू हुआ….अब यह खत्म कैसे होगा? Read More »

Spread the love

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.